Sunday, April 3, 2011

Why Sachin Tendulakar is not taking retirement

पता नहीं सचिन ने सन्यास क्यों नहीं लिया, वर्ल्ड कप २०११ बेस्ट टाइम था सन्यास के लिए

आखिरकार सचिन का वर्ल्ड कप जीतने का सपना साकार हो ही गया . मै तो समझ रहा था कि सचिन वर्ल्ड कप जीतने के बाद सन्यास ले लेंगे पर लगता है वो अभी और क्रिकेट खेलना चाहते है खैर कोई बात नहीं

Sachin Tendulakar



अगर सचिन इस वक्त सन्यास ले लेते तो बेस्ट सन्यास टाइम कहलाता बाद में फिर पता नहीं क्या हो कब क्रिकेट से गायब हो जाएँ राहुल द्रविड़ कि तरह पता ही नहीं चलेगा. मेरे ख्याल से सचिन का सन्यास लेना ठीक रहता पर बन्दे में अभी जान है तो इंडिया को इसका लाभ जरूर मिलेगा.

वर्ल्ड कप २०११ पूरी इंडिया के लिए फेस्टिवल का दिन हो गया मुंबई में तो हर कोई रोड पे आ के डांसर बन गया था सबकी ख़ुशी देखने को मिलती नारियल फोड़ने वालों कि तो लाइन लगी हुई थी

जगह जगह प्रोजेक्टर से मैच देखे जा रहे थे. कुछ लोगों ने तो कई कई व्हिस्की कि बोतले खली कर दी मरे खुसी के हर कोई फूला नहीं समां रहा था.

जगह जगह भारत माता कि जय के नारे लग रहे थे, वन्दे मातरम लोगों के दिलों से निकल रहा था ऐसा लगा रहा था जैसे हर किसी ने वर्ल्ड कप जीत लिया था.
और हर किसी को गर्व हो रहा था जीत का.

आखिर क्यों न हो ये मौका वर्षो बाद आता है अब पता नहीं कब आये धोने ने जो देश के लिए किया वह वर्षो तक याद किया जायेगा

धोनी और जीतने वाली टीम को मेरा सत सत प्रणाम.

जय हिंद जय भारत जय वर्ल्ड कप जय हो