Khajur tree

खजूर का पेड़

Khajur tree,my village,hindi essay

मेरा गाँव उत्तर प्रदेश में है मेरे घर के द्वारे एक बहुत बड़ा खजूर का पेड़ था । खजूर का पेड़ देखने में बहुत ही सुन्दर लगता था क्यों कि वो पेड़ बिलकुल सीधा था और 3 किलोमीटर दूर से दिखाई देता था मैं खजूर का पेड़ देख के लोगों को बताता था देखो वो रहा मेरा घर और मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो जाता था । रोज चिड़ियों की चहक सुनाई देती थी बहुत अच्छा लगता था । और उसका फल तो बहुत ही मीठा था ।

एक दिन की बात है मेरे चाचा के एक दोस्त आये और बोले मै अपना घर बनवा रहा हूँ और मुझे एक सीधा लम्बा पेड़ चाहिए ए खजूर का पेड़ मेरे काम आ सकता है पहले तो मेरे चाचा ने मना कर दिया पर बहुत जोर देने के बाद वे मान गए ।
अगले दिन कुछ लोग आये और खजूर के पेड़ को काटने लगे । मैंने देखा तो मुझे बहुत दुख हुआ मैंने उन्हें बहुत रोका पर बड़ो के आगे मेरी एक न चली । थोड़ी देर में पेड़ कट के गिर गया । उसमे से बहुत सारी चिड़ियों के बच्चो की जान चली गई ।

मेरा पूरा द्वार सूना हो चूका था । उस बात का दर्द मुझे आज भी है पर किसी को मेरे दर्द का एहसास ही नहीं हुआ । मुझे मेरे पेड़ की बहुत याद आती है आज फिर याद आ गया वो लम्हा इसलिए यहाँ पोस्ट कर रहा हूँ ।