Story of Aashu


कहानी आशु की

आशु जो की कभी किसी ज़माने में एक अच्छा क्षात्र रहा करता था पर कुछ गलत संगत हो जाने के कारन वो अब बदमाश हो चुका था | अभी तो साथ में चाकू और पिस्टल भी रखने लगा था सभी क्षात्रो को डरता रहता था उसे बहुत मजा आता था धीरे धीरे उसकी ५ से ६ लड़कों की गैंग ही बन गई कभी किसी लड़की को छेड़ते तो कभी किसी को पीट देते थे तो किसी का क्रिकेट का खेल बिगाड़ देते थे |

दिनोदिन आशु की हरकतें बढती जा रही थी | सभी क्षात्र उससे बचने की कोसिस करते थे | एक दिन तो क्लास में आकर बहुत सारे कुर्शी और मेज़ ही तोड़ डाले | मास्टर जी आये तो सबने सिकायत कर दी तो फिर आशू का नाम स्कूल से काट दिया | नाम कट जाने के बाद भी वो स्कूल आता जाता था और गुंडागर्दी करता था उसे पढाई से कोई मतलब हिन् नहीं था | उसका बर्बाद होने का कारन यह भी था की वो कई बार हाई स्कूल में फ़ैल हो गया था तो उसकी रूचि जाती रही |

धीरे धीरे समय बीतता गया जब आशो ने हर तरीके की गुंडा गर्दी कर ली तो अब कुछ बड़ा करने का सोचने लगा अब उसके कदम अपराध जगत की ओर मुड़ चुका था उसे एक लड़की पसंद आ गई धीरे धीरे वो उस पर डोरे डालने लगा सुरु सुरु में तो थोडा मुस्किल हुई पर अब वो लड़की भी इसे प्यार समझ के उसके फंदे में आ गई | आशु के बड़े भाई का नाम अंगारा था वो और अंगारा दोनों साथ में दारू पीते थे अंगारा ने भी उस लड़की को देखा हुआ था तो उसके मन में भी अपराध करने की बात आ रही थी | फिर क्या था दोनों लोगों ने लड़की के साथ बलात्कार करने का तय कर लिया और दुसरे दिन उसे घुमाने के बहाने दुसरे सहर ले गए और एक कमरा बुक कर लिया फिर दोनों ने एक सप्ताह तक बलात्कार किया | फिर जब मन भर गया तो उससे छुटकारा पाने के लिए उसे मार डालने का बिचार बना लिया और बेरहमी से कतल कर दिया उसका गला तक काट दिया और चुपचाप लाश ठिकाने लगा कर घर आ गए |

अब लड़की के घर में उसका भाई जो की इंजिनियर था उसका इन्तजार कर रहा था इतने दिन तक बहन के गायब हो जाने पर परेशां हो गया पुलिश में रिपोर्ट लिखाई तफ्तीश के बाद पता चला की आखिरी बार लड़की आशु के साथ देखि गई थे उसका भाई जिसका नाम विकाश था उसे सक हुआ तो उसने आशो की तफ्तीश सुरु कर दी |

 कई दिनों तक ढूँढने पर एक दिन आशो उसके हाथ लगा गया तो कुछ दोस्तों की मदद से विकाश ने आशु को पकड़ लिया और रस्सी से पेड़ में बंधकर पूछताछ सुरु की खूब पीटने पर पता चला दरिंदो ने उसकी बहन को मार दिया फिर विकाश गुस्से से आग बबूला हो गया और आशो को इतना मारा की वो मर गया फिर उसकी लिंग भी काट दिया और अंगारा का पता लगाने निकल पड़ा पर अंगारा आशु की कहानी सुनकर अपना गुनाह कबूल कर लिया और अपने आपको पुलिस के हवाले कर दिया बाद में विकाश को भी गिरफ्तार कर लिया गया पर वो अब जमानत पर छूट चुका है अंगारा अभी भी जेल में है और जमानत की तो बात ही नहीं करता.